Tuesday, June 13, 2017

எனது ஈரடி --मेरे दोहे

आज मेरे मन में निम्न वचन लिखने की प्रेरणा मिली।
ईश्वर को धन्यवाद ।
ஹிந்தியில் என் படைப்பு அதை 

தமி ழ் அன்பர் ளுக்கு 
தமிழ் மொழி பெயர்ப்பு சமர்ப்பணம்.

உன் முன்னேற்றம் உனக்குள்,
உடல் வளர்ச்சி போல்.
உழைப்பு நேர்மை ,வாய்மை மூன்றிலே வளர்ச்சி காண்.

உலகியல் ஆசைகளை குறைத்துக் கொள்
அதுவே அமைதி தரும் வழியாகும் .
அவ் வுலக ஆன்மீகம் தருமே
முடிவு இல்லா மன நிறைவு.

உலக நடவடிக்கைகளை,
சரியாகத் தெரிந்து கொள்.
பிறவிப் பயன் பெற
ஆசைகளை அகற்று.

ஊழல் வாதி, கருப்பு பண வாதி,
கையூட்டு வாதி ,
அனுபவிப்பது வெளிமன ஆனந்தம்.
அடிமன இறை நாமம் கூறலில் கிடைப்பதே
இறை இன்பம்.

அழிவு காலத்தில் எதிர்மறை அறிவு அறிஞன் கூற்று.
எழுச்சி காலத்தில் நேர் மறை அறிவு
இறைவன் அளித்தது

तेरी उन्नति तुझमें , जैसे शारीरिक विकास।
मेहनत, नेक सत्य , तीनों में है संतोष।
लौकिक इच्छा कम करो, वही शांति का पथ।
अलौकिक अाध्यात्मिकता में है,अनंत संतोष!!
जान लो सही पैमाने में ,जग व्यवहार को।
जन्म फल मिलना हो तो, दूर करो चाहों को।
भ्रष्टाचारी, काला धनी , रिश्वत खोरी ,भोगते बाह्यानंद।
आंतरिक आनंद भजन में ,जिससे मिलता ब्रह्मानंद।
विनाश काले विपरीत बुद्धि, ग्ञानी ने कहा।
विकास काले अनुकूल बुद्धी, ईश्वर की देन।।
आज मेरे मन में निम्न वचन लिखने की प्रेरणा मिली।
ईश्वर को धन्यवाद ।

तेरी उन्नति तुझमें , जैसे शारीरिक विकास।
मेहनत, नेक सत्य , तीनों में है संतोष।
लौकिक इच्छा कम करो, वही शांति का पथ।
अलौकिक अाध्यात्मिकता में है,अनंत संतोष!!
जान लो सही पैमाने में ,जग व्यवहार को।
जन्म फल मिलना हो तो, दूर करो चाहों को।
भ्रष्टाचारी, काला धनी , रिश्वत खोरी ,भोगते बाह्यानंद।
आंतरिक आनंद भजन में ,जिससे मिलता ब्रह्मानंद।
विनाश काले विपरीत बुद्धि, ग्ञानी ने कहा।
विकास काले अनुकूल बुद्धी, ईश्वर की देन।।