Wednesday, July 26, 2017

ध्यान

 ध्यान 

क्या     मनुष्य  ध्यान मग्न  बैठे  रहें
तो    क्या  उसकी    मनोकामनाएँ
पूरी  होगी , तपोबल में ऐसी शक्ति है क्या
सोचा मैंने  प्रयोग    में    लाया  तो
ज्ञात हुआ  ध्यान  में  बड़ी   शक्ति  है,
शत्रु  को    झुकाने    की    शक्ति
ज्ञान को बढाने  की    शक्ति
हर    मनो कामना  पूरी  करने  की शक्ति
ध्यान  लगाकर देखो ध्यान  की  महिमा .
पढ़ा   है   वाल्मीकि   को
ध्यान  में ज्ञान मिला,
कालिदास   मूर्ख को
देवी की   कृपा मिली
अनपढ़  कवी  कबीर
वाणी का डिक्टेटर  बना.
रैदास   की आज्ञा  गंगा माता मानी.
येतो   केवल  काल्पनिक  नहीं
आचार विचार कर देखो
सच्चाई का  चलेगा   पता.