Friday, December 28, 2012

2013 का नया साल



2013  का नया साल ,लोगों को नया प्रोत्साहन  दें;
सुशासन की व्यवस्था हो;मिट जाएँ सार भ्रष्टाचार;

लोग संयम सीखें ,मिलें कठोरतम सज़ा बलात्कारियों को;
लड़कों में पौरुष बढ़ें;फिल्मी-प्रभाव से काम न बढ़ें;
लड़के संयम से रहें;न घूमे लड़कियों के  पीछे श्वान जैसे;
शिक्षा-नौकरी तक  ऋष्य श्रुंग जैसे रहें;
भारतीय उत्तम व्यवहार अपनावे;
अन्याय और अत्याचार का डटकर  करें सामना;
विश्व में शान्ति फैले;न्याय का वृक्ष बढ़ें।
घर-घर में संतोष और आनंद रहें;
गम मिटें।सुख-शान्ति की झलक मिलें;
ज्ञान-धन -स्वास्थ्य से जन-जन सानन्द रहें।
डरें भ्रष्टाचार;अत्याचार;अनाचार;अन्याय।
निडर और सर ऊँचा रहें नेकों के ;सदाचारों के।
अच्छी चालचलन और ऊँचे - चरित्र का विकास हो।
अमन-चमन का वास हो;सब पर ईश्वर का अनुग्रह हो।
2013 से जग का केवल कल्याण ही हो!
घर-घर में कल्याण;समाज में कल्याण;देश में कल्याण;
जग-जग में कल्याण;ईश्वरीय भय साथ रहें