Friday, February 27, 2015

अव्वैयार -नल्वली

nalvali ---सुमार्ग --अव्वैयार --२१ त० 30 

  ௨௧ .நீரும் நிழலும்  நிலம் பொதியும் நெல் கட்டும் 
           பெரும் புகழும்  பெருவாழ்வும் -ஊரும் 
            வருந்திருவும்  வாழ்நாளும் வஞ்சமிலார்க்கு என்றும்
            தரும் சிவந்த தாமரையாள்  தான்.

          लाल कमल  के आसन पर बैठनेवाली देवी  सरस्वती ,
          जिसके दिल में छल -कपट नहीं, निष्कपट है ,
          उनको  रहने के लिए धाम ,जल समृद्धि से भरे खेत
         सुनाम ,यश ,बड़प्पन,संपत्ति ,सम्पन्न शहर ,दीर्घ   आयुष ,
        सदा के लिए प्रदान करेगी.

22.பாடு பட்டுத் தேடி பணத்தைப் புதைத்து வைத்துக்
     கேடு கேட்ட மானிடரே கேளுங்கள் ;கூடுவிட்டு இங்கு
   ஆவிதான் போயின பின்பு யாரே அனுபவிப்பார்
  பாவிகாள் அந்தப் பணம்.

 कठोर मेहनत करके धन कमाकर उसे गाड़कर रखनेवाले 
 बुराई करनेवाले मनुष्य सुनिए-
 शरीर से प्राण पखेरू उड़ जाने के बाद ,
हे पापियों !उस खजाने के धन को 
कौम भोगेगा.
 अर्थात धर्म कार्यों में धन का खर्च करना ही पुण्यात्मा का काम  है.

२३ .வேதாளம் சேருமே  வெள் இருக்குப் பூக்குமே 
       பாதாள மூலி  படருமே -மூதேவி 
      சென்றிருந்து வாழ்வளே  சேடன் குடி புகுமே 
     மன்று ஓரம் சொன்னார் மனை.

    अदालत  में जो झूठे गवाही देते हैं , उनके घर में 
    भूत -पिशाच  स्थायी घर बना लेगा;
  श्वेत आक के फूल खिलेंगे ;
 पाताल मूल लताएँ फैलेगी ;
 ज्येष्टा देवी आकर जैम कर बैठेगी ;
 सांप के बिल बनेगा ;उसमें सांप बसेगी .

मतलब हैं जो अदालत में झूठ बोलेंगे उनको कष्ट ही कष्ट होगा.

२४.नीरू इल्ला नेत्री पाल ;नेय  इल्ला उंडी पाळ;

    आरू इल्ला ऊरुक्कु अलकू पाळ;---मारिल 
   उड़न पिराप्पू इल्ला उडम्बू  पाळ; पाले 
   मडक कोडी इल्ला मनैक.---तमिल 

    विभूति रहित  माथा बेकार;
   बिना घी के भोजन बेकार;
  बिना सहोदर के शरीर बेकार ;
  गृहस्थ  जीवन योग्य जोरू के बिना 
  वह घर भी शून्य और बेकार.

२५.  आ न मुतलिल अधिकं सेलवानाल 
      मानं अलिन्तु mathi केट्टुप पोन दिसै
     एल्लार्क्कुम कल्लनाय  एल पिरप्पुम  तीयनाय
    नल्लार्क्कुम पोल्लानाम नाडू.

 नौकरी   के   मिलते   ही   अधिक खर्च  होने पर ,
 मान -मर्यादा बिगड़ जाएगा ;
जहां    जाते  हैं ,वहाँ अपमान होगा.सभी लोगों के लिए चोर बन जायेगा

सातों जन्म एन बुरा ही होगा.अच्छे लोगों के लिए भी बुरा ही दीख पड़ेगा.