Sunday, November 11, 2012



२०१२ नव वर्ष  की शुभ कामनाएं

अनंत आनंद का वर्ष २०१२ हो,
अन्याय अत्याचार का अंत हो,
अधिकारियों के मन में,
आम जनता की सेवा करने
तटस्थता हो.
राजा नैतिक दलों की ,
संख्याएं   घटे.
नेताओं के मन से .
स्वार्थता मिट जाएँ.
अपनी उन्नति,
अपने नाते रिश्तों की ,
अहम् की उन्नति -विचार
स्वार्थ कार्रवाई से दूर
देश के समस्त , 
सर्वजन सेवा का भाव हो.
नकली ठगी
 सन्यासी साधुवों
का भेद खुलें.

पोल खुलें,
छद्म वेश्धारियों   का. 
गिरगिट सा रंग बदलनेवाले,
नेताओं के मन में,
केवल देश की चिंता जगे.
२०१२ में
सब के सब निस्वार्थ बने.
सरकार  अपव्यय न करें  
पुलिस अधिकारी और पुलिस ,
चोरों-लुटेरों,डाकुओं के पक्ष में न होकर
जनता की सच्ची सेवा में लगें.
सत्य ,धर्म,ईमानदारियों का राज हो.
ईश्वर सब के मन में ,
सुविचार जगाने की कृपा करें.
यहीं मेरी मनोकामना २०१२ नव वर्ष में.