Friday, May 2, 2014

chain of four gems--चार रत्नों की कड़ी.--२६

एक  व्यक्ति के  शिक्षा  में  पटु होते -होते ,
उसकी अज्ञानता दूर होगी.

अज्ञानता  के दूर  होते -होते वह व्यक्ति संसार की गति जान लेगा.

संसार के गति को जानने से वह वास्तविकता महसूस कर जियेगा.
वह वास्तविकता की नीति नियम उसका यश बढ़ाकर 
उसको अमर कीर्ति देगी.
one educated  man  is  free  from his ignorance . 
when  he  gets  knowledge  he knows  the  reality of  the  world . 
when  he  knows  the  reality he  will  live according  to  that . 
his  realism  gives   him immortal  name  and   fame.