Wednesday, May 21, 2014

saalon se saavdhan


नाते -रिश्ते  काम के या नाकाम के ,
 मेरे अनुभव में साले सब  लुटेरे
रामायण के शकुनि ,
रामायण के मंथरा,
न जाने अपनी पहन के परिवार
या वर पक्ष के अहित चाहनेवाले;
निर्दयी साले  बहनोई मरें तो
बहन की संपत्ति लूटने तैयार;
मरणसन्न शल्य चकित्सा में भी
न आनेवाले बहन के बेटे से लाखो लेने तैयार
बहनोई जिन्दा है  तो दुखी होने वाले
मृत्यु के इंतज़ार में प्रार्थना करनेवाले
ऐसे सालों और सालियों से सावधान.