Monday, May 25, 2015

निज अनुभव से ही होगा महसूस.

हम  चाहते हैं ,
जो कुछ ,

वे मिल जाते तो 
और कुछ चाहेंगे. 
चाह का नहीं कोई अंत 

माँगते  हैं   एक 
मिलती हैं और एक 
न  मिलने के दुःख की 
कहानी  और  एक। 

करते हैं प्यार किसीसे 
वह करती हैं प्यार और किसीसे 
[वह अदम्य दुःख ,
निज अनुभव से ही होगा महसूस.